चक्रधर समारोह : समंदर के सूफी और मांगीनियार गायन पर झूमे श्रोता

Trending Puzzle : Guess the Hindi songs from following emotions

सप्तरंग की प्रस्तुति यादगार बनी

चक्रधर समारोह (Chakradhar Samaroh)रायगढ़ :  कला और संगीत की नगरी रायगढ़ में चल रहे दस दिवसीय चक्रधर समारोह की हरेक सांस्कृतिक संध्या गीत, संगीत और नृत्य की बेजोड़ प्रस्तुति की वजह से कला प्रेमियों के लिए यादगार बनते जा रही है। चक्रधर समारोह की द्वितीय सांस्कृतिक संध्या के दौरान देश के नामचीन कलाकारों ने अपनी प्रस्तुति से श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर दिया। राजस्थान के प्रसिद्ध लोक गायक समंदर खान के सूफी और मांगीनियार गायन पर श्रोता झूम उठे। समंदर खान और उनके साथियों ने अपनी बेजोड़ प्रस्तुति से कला प्रेमियों को रात्रि 1 बजे तक बांधे रखा। मुम्बई की सुश्री देवी लतासना एवं उनकी टीम के कलाकारों द्वारा प्रस्तुत सप्तरंग नृत्य ने बेजोड़ समा बांधा। भरत नाट्यम, कथक, कथकली, कुचीपुड़ी, मणिपुरी, मोहिनी अट्टम की संयुक्त प्रस्तुति को कला प्रेमियों ने खूब सराहा। कोलकाता के असीम बंधु के कलाकारों ने अपनी प्रस्तुति के दौरान कथक के लखनऊ एवं जयपुर घराने की संयुक्त प्रस्तुति देकर खूब तालियां बटोरी। असीम बंधु और उनके कलाकारों द्वारा पग घुंघरू बांध मीरा नाची रे के प्रस्तुति को कला प्रेमियों ने खूब सराहा और तालियां बजाकर दाद दी। इससे पूर्व  सौम्या षड़ंगी ने ओडिसी नृत्य के माध्यम से वर्षा अभिसार पर शानदार प्रस्तुति दी। गौतम चौबे के गायन और अदिति बोहिदार के ओडि़सी नृत्य को भी दर्शकों और श्रोताओं ने खूब सराहा।

[aps] द्वितीय सांस्कृतिक संध्या की अंतिम प्रस्तुति देने मंच पर पहुंचे राजस्थान के प्रसिद्ध लोक गायक समंदर खान का लोगों ने करतल ध्वनि कर आत्मीय अभिनंदन किया। [/aps] समंदर खान और उनके दल के कलाकारों ने कालबेलिया नृत्य, घूमर नृत्य, भवाई की शानदार प्रस्तुति के साथ ही जयपुर घराने के कथक नृत्य की बेजोड़ प्रस्तुति दी। इन प्रस्तुतियों के बीच समंदर खान के सूफी और मांगीनियार गायन को लोगों ने खूब सराहा। राजस्थानी लोक गीत पधारू थारे देश रे.. से उन्होंने अपनी प्रस्तुति की शुरूआत की। इसके बाद मीठू-मीठू बोले पपहिया…… जैसे कर्णप्रिय राजस्थानी लोकगीत के बाद समंदर खान ने एक से बढ़कर एक सूफीयाना कलाम अपने अंदाज में पेश किया। छाप तिलक सब छीनी रे मोसे नैना मिलाई के …… सुफी गीत की प्रस्तुति उन्होंने अपने अनोखे अंदाज में दी और श्रोताओं को अपनी प्रस्तुति के दौरान जोड़े रखा। दम मस्त कलंदर मस्त-मस्त…… की प्रस्तुति पर पूरी महफिल झूम उठी और लोगों ने तालियां बजाकर समंदर की प्रस्तुति को सराहा। इस अवसर पर लोक गायक समंदर खान ने चक्रधर समारोह के गरिमामय आयोजन और रायगढ़ की कला पारखी जनता की तारीफ करते हुए कहा कि उन्हें इतने बड़े मंच से दोबारा गाने का अवसर मिला है यह उनके लिए सौभाग्य की बात है। इससे पूर्व सांस्कृतिक संध्या का शुभारंभ विधायक श्री रोशन लाल अग्रवाल ने दीप प्रज्जवलित कर किया। इस अवसर पर कलेक्टर श्रीमती अलरमेलमंगई डी, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री अजेश पुरूषोत्तम अग्रवाल,अपर कलेक्टर श्री श्याम धावड़े एवं श्रीमती प्रियंका महोबिया सहित अन्य जनप्रतिनिधि व बड़ी संख्या कला प्रेमी उपस्थित थे।

WhatsApp Dare Game : Select the whatsapp dare. Jo aaye wo karna padega