Short But Hot

सिविल अस्पताल की व्यवस्था सुधारने धृतलहरे ने कसी कमर

Trending Puzzle : वो कौनसी सब्जी है – Whatsapp Puzzle

[aps] सिविल अस्पताल की बदहाल व्यवस्था को सुधारने के लिए अंततः एसडीएम को अस्पताल में अपना एक कक्ष स्थापित करना पड़ा। सोमवार 18 मई को खरसिया एसडीएम ए के धृतलहरे अस्पताल पहुंचे और डाक्टरों एवं अस्पताल प्रभारी को अस्पताल के निरीक्षण के पश्चात आवश्यक निर्देश दिए [/aps] खरसिया:  एसडीएम ने अस्पताल का अवैध पार्किंग के रूप में कुछ लोगों के द्वारा इस्तेमाल किए जाने पर गहरी नाराजगी जताई और खरसिया चौकी के एएसआई डहरिया को अस्पताल परिसर में अवैध रूप से खड़ी हुई गाड़ियों को जब्त करने के निर्देश दिए। वहीं निरीक्षण के दौरान एसडीएम धृतलहरे ने अस्पताल परिसर में पसरी गंदगी के लिए खरसिया नगर पालिका सीएमओ को दो दिन में पूरी तरह से सफाई व्यवस्था बहाल करवाने का निर्देश दिया। वहीं सिविल अस्पताल प्रभारी डॉ सजन अग्रवाल से उन्होंने अस्पताल में पदस्थ सभी सफाई कर्मचारियों के बारे में जानकारी ली और अस्पताल की साफ-सफाई पर निर्देश दिए।

[aph]इस अवसर पर एसडीएम एके धृतलहरे ने बताया कि [/aph]अब अस्पताल में व्याप्त बदहाली एवं अव्यवस्था की शिकायतों के मद्देनजर वे रोज दो घंटे सिविल अस्पताल में ही बैठेंगे । इसके लिए उन्होंने जीवन दीप समिति अध्यक्ष के बतौर एक कमरे की साफ-सफाई कर तैयार करने का भी निर्देश दिया। साथ ही अस्पताल में पदस्थ सभी डाक्टरों के बैठने के कमरों में रंग-रोगन के साथ साइन बोर्ड लगाने के भी निर्देश दिए।

डाक्टरों को भगवान समझते हैं लोग

अस्पताल पहुंचे एसडीएम धृतलहरे ने सिविल अस्पताल प्रभारी डॉ सजन अग्रवाल से कहा कि लोग डाक्टरों को भगवान समझते हैं पर इस अस्पताल में आ रहे मरीजों को मानवता एवं सेवा के इस मंदिर से निराश होकर जाना पड़ रहा है। यह गंभीर बात है। भगवान समझे जाने वाले डाक्टरों का भी यह कर्तव्य है कि आम लोगों को उनकी सेवा का लाभ मिले।
 डॉक्टरों व कर्मचारियों को समझाइश देते एसडीएम धृतलहरे 
WhatsApp Dare Game : व्हाट्सएप्प के इतिहास में पहली बार: एक गेम सिर्फ लड़कों के लिए
Tags
Show More | पूरा पढ़ें

Related Articles

Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker