ट्रिंगो (TRRINGO) : सिर्फ एक फोन कॉल पर ट्रेक्टर किराये पर उपलब्ध

Trending Puzzle : What is the real name of the child?

ट्रिंगो (TRRINGO) से सिर्फ एक कॉल पर ट्रेक्टर सहित सभी कृषि उपकरण आप के घर सामने किराये पर उपलब्ध होगी

Trringo - Ab tractor call karoआप ने ये तो सुना ही होगा कि कैसे शहरों में एक मोबाइल कॉल पर छोटी बड़ी गाड़ियां किराये पर आपके घर के सामने खड़ी हो जाती है। ऐसे ही आपने कई बार मोबाइल एप्प से बड़ी-बड़ी टीवी, फ्रिज या और कोई अन्य चीजें मंगवाई होगी। पर अगर हम आप को कहें कि आप के एक मोबाइल काल से आप के घर के सामने ट्रेक्टर और अन्य खेतीबाड़ी की छोटी बड़ी उपकरने आप के घर के सामने खड़ी हो जाएंगी तो क्या आप यकीन करेंगे। और ये सब गाओं में भी संभव हो पायेगा।

आप को और बिना चौकाते हुये बताते है कि ये सब बिलकुल संभव है और होने भी लग गया है। ये सब संभव हो पा रहा है महिंद्रा के नए बिज़नेस मॉडल TRRINGO से जहाँ आप को एक कॉल पर खेतीबाड़ी के लिए ट्रेक्टर और अन्य जरूरी उपकरण किराये पर उपलब्ध होगी।

ट्रिंगो (TRRINGO) कीसी वरदान से कम नही है जो किसानों को आधुनिक कृषि उपकरणें किराये पर मुहैया कराएगी वो भी एक काल पर

ये तो हम सभी जानते हैं कि भारत एक कृषि प्रधान देश है और एक बड़ी अर्थव्यवस्था आज भी कृषि के भरोसे है। पर दुर्भाग्य की बात यह है कि आज भी अधिकतर छोटे और मझले किसानों के पास आधुनिक कृषि के लिए जरूरी उपकरण नहीं हैं। यही किसान सबसे अधिक मेहनती और परिश्रमी होतें है पर आधुनिक उपकरणों के आभाव में मेहनत के मुताबिक फल नहीं मिलता। आज अभी अधिकतर गाओं में आप के ट्रेक्टर या अन्य जरूरी और आधुनिक कृषि उपकरणों की कमी है या बिलकुल नही है। ऐसे गाओं में किसान अपना ज्यादातर समय दूसरों से ट्रेक्टर जुगाड़ लगाने या दूर गाओं से किराए की खोज में लगे रहते हैं। उचित कृषि उपकरणों का सही समय में न मिल पाना भी कृषि उपज़ पर बुरा प्रभाव डालती है। ऐसे में महिंद्रा एंड महिंद्रा की नयी वेंचर TRRINGO कीसी वरदान से कम नही है जो किसानों को आधुनिक कृषि उपकरणें किराये पर मुहैया कराएगी वो भी एक काल पर।

ट्रिंगो (TRRINGO) की कैसे करे बुकिंग?

Trringo bookingमहिंद्रा एंड महिंद्रा का ये वेंचर TRRINGO इसी वर्ष (2016) मार्च में प्रारम्भ हुआ और धीरे धीरे यह फैलता जा रहा है। अभी TRRINGO की सुविधा कुछ ही राज्यों में उपलब्ध है। TRRINGO का पहला हब जहाँ से किसान उपकरण किराये पे ले सकते हैं कर्नाटका के कोप्पल में खुला जहाँ कर्नाटका के कृषि मंत्री कृष्णा बैरे गौड़ा भी उपस्थित थे। TRRINGO के CEO अरविंद कुमार के मुताबिक TRRINGO की सुविधाएँ जल्द ही गुजरात, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश एवं राजस्थान में भी शुरू होंगे।

ट्रिंगो (TRRINGO) के माध्यम से कृषि उपकरण किराये में पाने के लिए आप इन माध्यमों को चुन सकते हैं:-

  1. आप कंपनी के टोल फ्री नंबर 1800 266 266 8 पर काल कर सकते हैं। कॉल कर के आप और अधिक जानकारी जैसे कौन कौन सा उपकरण किराये के लिए उपलब्ध है और उनका किराया क्या होगा जान पाएंगे।
  2. कंपनी ने मोबाइल एप्प के जरिये भी बुकिंग होना बताया है पर अभी ये सेवा प्रारम्भ नहीं हुई है। आप गूगल प्ले पर जा कर “TRRINGO” खोज सकते हैं।
  3. अगर आप के आस पास कंपनी का हब है तो आप वहां सीधे पहुँच कर जानकारी प्राप्त कर सकते हैं और कृषि उपकरण किराये पर प्राप्त कर सकते हैं।

Trringo earn moneyट्रिंगो (TRRINGO) से जूड कर कैसे करें कमाई?

TRRINGO किसानों को जरूरी कृषि उपकरण किराये पर उपलब्ध तो कराती ही है पर आप इससे जुड़ कर अपना व्यवसाय प्रारम्भ कर सकते हैं। TRRINGO का बिज़नेस मॉडल इसी पर निर्भर करता है कि कितने ज्यादा से ज्यादा लोग उनसे जुड़ कर इस मिशन को सफल बनाते हैं। TRRINGO की फ्रेचाइजी पाने के लिए आप [email protected] पर ईमेल कर सकते हैं। और अधिक जानकारी के लिए आप कंपनी की ऑफिसियल वेबसाइट जाकर आपकी जानकारी दें सकते हैं कि आप फ्रेचाइजी पाने के लिए इच्छुक हैं।

WhatsApp Dare Game : Whatsapp Game: Aap Ki Love Story Kis Movie Jaisi Hogi?